तेलंगाना राज्य

तेलंगाना 2 जून 2014 को भारत का 29वाँ राज्य बना। यह पूर्व में आन्ध्र प्रदेश का हिस्सा था। भारत की आजादी से पहले यह हैदराबाद राज्य में शामिल था, जिसमें दो सम्भाग वारंगल और मेडक थे। उस समय इस क्षेत्र में निजामों का शासन था। इस समय वर्तमान राज्य तेलंगाना की कुल आबादी सरकारी आंकड़ों के अनुसार 350.4 लाख है।

तेलंगाना की भौगोलिक सिथिति

सीमाएं उत्तर और उत्तर पश्चिम में महाराष्ट्र, पश्चिम में कर्नाटक, उत्तर पूर्व में छत्तीसगढ़, पूर्व में आन्ध्र प्रदेश।

क्षेत्रफल – 112077 वर्ग किलोमीटर सरकारी आंकड़ों के आधार पर।

नदियाँ – मूसी, कृष्णा, मंजीरा और गोदावरी

प्रसिद्ध शहर – हैदराबाद, निज़ामाबाद, वारंगल, करीमनगर

तेलंगाना के तीर्थ एवं पर्यटन स्थल

तीर्थ एवं पर्यटन स्थल – बासरा माँ सरस्वती का जन्मस्थल, भद्रकाली मन्दिर (वारांगल), वनवास काल में भगवान राम की निवास स्थली भद्राचलम। नागार्जन सागर बाँध आदि

कुल जिले – 31

अर्थव्यस्था – कृषि तेलंगाना का सबसे महत्वपूर्ण व्यवसाय है। स्थानीय तौर पर यहाँ कपास, आम, तम्बाकू की मुख्य फसलें उगाई जाती हैं। प्रमुख दो नदियाँ कृष्णा और गोदावरी इस राज्य को सिंचाई की अच्छी सुविधा दे रही हैं।

समाज और संस्कृति – ज्यादातर आबादी तेलगु बोलती है । यहाँ दीपावली, श्री रामनवमी, गणेश चतुर्थी, महाशिवरात्रि, बकरीद, ईदउल फितर त्यौहार मनाये जाते हैं। बतुकम्मा और लश्कर बोनालु इस राज्य के त्यौहार है।

प्रमुख शिक्षा केन्द्र – हैदराबाद विश्वविद्यालय, आई.आई.आई.टी. हैदराबाद, राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, उस्मानिया विश्वविद्यालय आदि।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *