समस्या समाधान का अर्थ

Meaning of problem resolution

समस्या समाधान एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसमें तार्किक चिन्तन, विश्लेषण एवं मूल्यांकन होता है, जो एक निश्चित परिणाम तक पहुंचने में सहायता करती है। अध्ययन के दौरान विद्यालय में बालकों को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है तथा उन समस्याओं का समाधान भी करना पड़ता है।

समस्या को सुलझाना हमारे दैनिक जीवन का अभिन्न अंग है। हर दिन हम सरल से लेकर जटिल समस्याओं का समाधान करते हैं। कुछ समस्याओं का हल करने में कम समय लगता है और कुछ में अधिक। किसी समस्या का समाधान करने के लिए यदि समुचित साधन उपलब्ध नहीं होते, तो समाधान का विकल्प देखना पड़ता है। किसी भी प्रकार की समस्या का समाधान निकालने में हमारा चिन्तन निर्देशित और केन्द्रित हो जाता है और सही और उपयुक्त निर्णय पर पहुँचने के लिए हम सभी संसाधनों आन्तरिक (मन) और बाह्य (दूसरों का समर्थन और सहायता) दोनों का उपयोग करने का प्रयास करते हैं।

स्टैनले ग्रे के शब्दों में “समस्या समाधान वह प्रतिमान है, जिसमें तार्किक चिन्तन निहित होता है।”

  • समस्या समाधान के अनेक स्तर हैं। कुछ समस्याएँ बहुत सरल होती हैं, जिनको हम बिना किसी कठिनाई के हल कर सकते हैं।
  • निर्देशित चिन्तन के तीन तत्व हैं समस्या, लक्ष्य और लक्ष्य के दिशा में एक कदम। ऐसी तीन विधियाँ हैं, जिनका प्रमुख रूप से समस्या समाधान में उपयोग किया जाता है, ये हैं ‘मध्यमान-अन्त-विश्लेषण’ और ‘एल्गोरिद्म’ या कलन विधि, तथा अन्वेषणात्मक विधि।
  • कलन विधि (Alogrithim Method) एक प्रक्रिया या नियमों का समुच्चय है जिसका प्रयोग गणना या अन्य समस्या समाधान सक्रियाओं (operations) में किया जाता है।
  • मध्यमान-अन्त-विश्लेषण में विशेष प्रकार की समस्याओं का समाधान करने में एक विशिष्ट प्रकार की प्रक्रिया का चरणबद्ध प्रयोग किया जाता है।
  • यूरिस्टिक्स या अन्वेषणात्मक के मामले में व्यक्ति समस्या समाधान के लिए किसी सम्भव नियम या विचार का उपयोग करने के लिए स्वतन्त्र है। इसे अभिसूचक नियम (रूल ऑफ थम्ब) भी कहा जाता है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *