कुरुक्षेत्र जिले के मन्दिर एवं धार्मिक संस्थान

Temples and Religious Institutions in Kurukshetra District स्थानेश्वर महादेव मन्दिर – थानेसर (Sthaneshwar Mahadev Temple – Thanesar) थानेसर नगर के उत्तरी भाग में स्थित स्थानेश्वर महादेव मन्दिर कुरूक्षेत्र का एक… Read more

कुरूक्षेत्र जिले के महत्वपूर्ण स्थल

Important Places in Kurukshetra District शेख चेहली का मकबरा इस मकबरे को हरियाणा का ताजमहल’ भी कहा जाता है। सूफी संत अब्दुर्र रहीम अब्दुल करीम अब्दुर रज्जाक उर्फ शेख चेहली… Read more

कुरुक्षेत्र जिले के प्रमुख शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान

Major Educational and Training Institutes of Kurukshetra District कुरुक्षेत्र जिले में अनेको राष्ट्रीय स्तर के शैक्षणिक संसथान हैं जिनमे से कुछ को हमने यहाँ अंकित किया है कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय –… Read more

सिरसा शहर

Sirsa City पूर्व उपप्रधानमंत्री जननायक चौ. देवीलाल की जन्मभूमि सिरसा जिला हरियाणा के पश्चिमी छोर पर स्थित है। ‘महाभारत’, पाणिनी द्वारा रचित ‘अष्टाध्यायी’ और ‘दिव्यवादन’ नामक ग्रन्थों में ‘सिरसिका नगर’… Read more

नूह शहर

Nuh City ‘मेवात’ अर्थात् वीर मेवों की धरती। इस संस्कृति और विशिष्ट सभ्यता को एक विशेष पहचान देने के उद्देश्य से हरियाणा के तत्कालीन मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला ने 2… Read more

पलवल शहर

Palwal City हरियाणा के दक्षिण पूर्वी छोर पर स्थित पलवल जिला हरियाणा का एक महत्वपूर्ण जिला है। ऐसी मान्यता है कि महाभारत काल में इस क्षेत्र पर ‘पल्लवासुर’ नामक राक्षस… Read more

फरीदाबाद शहर

Faridabad City फरीदाबाद जिला हरियाणा के दक्षिण पूर्व में स्थित एक सीमान्त जिला है। यद्यपि फरीदाबाद शहर 1607 ई. में जहाँगीर के दीवान शेख फरीद द्वारा बसाया गया था। परन्तु,… Read more

महेन्द्रगढ़ शहर

Mahendragarh City प्रदेश के दक्षिणी छोर पर स्थित महेन्द्रगढ़ हरियाणा का महत्वपूर्ण जिला है। योग गुरु बाबा रामदेव की जन्मभूमि महेन्द्रगढ़ जिला प्रदेश का सीमान्त जिला होने के साथ-साथ अरावली… Read more

रेवाड़ी शहर

Rewari City हरियाणा प्रान्त की दक्षिणी सीमा पर स्थित रेवाड़ी जिला इस प्रदेश का एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक जिला है। महाभारतकाल में इस क्षेत्र में राजा रेवत शासन करते थे। उनकी… Read more

गुरुग्राम शहर

Gurugram City गुरूग्राम जिला हरियाणा का ऐतिहासिक जिला है। ऐसी मान्यता है कि महाभारतकाल में यह गांव पाण्डवों ने अपने गुरू द्रोणाचार्य को दिया था। गुरुग्राम जिले की स्थापना एवं… Read more