पंजाब विभाजन एवं हरियाणा का राज्य के रूप में उदय

1857 का क्रान्ति क दुःखद अत के उपरान्त प्रदेश की कछ रियासतों-जीन्द. पटौदी. लोहारू दजाना, नाभा में सम्मिलित बावल, कनीना और अटला का क्षेत्र तथा पटियाला में सम्मिलित नारनौल के… Read more

दुजाना रियासत

वर्तमान झज्जर जिले की दुजाना रियासत आजादी से पूर्व हरियाणा में महत्त्वपूर्ण स्थान रखती थी। दुजाना रियासत की नींव 1806 ई. में अब्दस समद खां नामक एक युसुफजई पठान ने… Read more

पटौदी रियासत

पटौदी रियासत की स्थापना फैज तलब खान ने की थी। 1803 ई. में द्वितीय आंग्ल-मराठा युद्ध में मदद के बदले ईस्ट इंडिया कंपनी ने 1804 ई. मे फैज तलब खान… Read more

लोहारू रियासत

1803 ई. में अग्रेजों ने अपने एक विश्वस्त सैन्य सरदार अहमद बख्श खान को लोहारू तथा फिरोजपुर-झिरका का क्षेत्र भरतपुर राज्य के खिलाफ सघर्ष में सहायता के बदले इनाम स्वरूप… Read more

जीन्द रियासत

जीन्द रियासत की नींव 1763 ई. में फुलकियां मिसल के संस्थापक फूलसिंह के पौत्र गजपत सिंह ने रखी थी। उसने जीन्द में एक विशाल दुर्ग का निर्माण भी करवाया था।… Read more

1857 के विद्रोह के उपरान्त हरियाणा की देशी रियासतें और उनका स्वतंत्रता संघर्ष

30 दिसंबर, 1803 को मराठा सरदार दौलतराव सिंधिया और अंग्रेजों के बीच सर्जी अंजन गाँव की संधि हुई। इस संधि के उपरान्त हरियाणा और इसके आसपास का क्षेत्र अंग्रेजों के… Read more

द्वितीय विश्वयुद्ध और हरियाणा

3 सितंबर, 1939 को इंग्लैंड ने जर्मनी के विरुद्ध युद्ध की घोषणा कर दी। युद्ध की घोषणा के कुछ ही घंटों के दौरान वायसराय लार्ड लिनलिथगा ने भारत को भी… Read more

आजाद हिन्द फौज में हरियाणा का योगदान

हरियाणा की जनता स्वभाव से ही पराक्रमी रही है। सिंगापुर में हजारों भारतीय सैनिक अंग्रेजों की फौज में लड़ रहे थे। फरवरी, 1942 में जापानियों ने सिंगापुर में अंग्रेजों को… Read more

प्रथम विश्वयुद्ध और हरियाणा

अगस्त 1914 में ब्रिटेन सहित पूरा यूरोप प्रथम विश्वयुद्ध की चपेट में आ गया। अंग्रेजों ने भारत को भी युद्ध की आग में झोंक दिया। हजारों भारतीय सैनिकों को भी… Read more

हरियाणा में राजनैतिक चेतना का विकास एवं सामाजिक पुनर्जागरण

1857 की क्रान्ति के बाद की पराधीनता और शोषण ने विभिन्न सामाजिक समूहों को एकत्रित होकर काम करने के लिए विवश किया। हरियाणा में बंगाल जैसे क्षेत्रों से सामाजिक, आर्थिक… Read more