सिंधु घाटी सभ्यता का काल निर्धारण

काल निर्धारण

मैंधव सभ्यता के काल को निर्धारित करना निःसंदेह बड़ा ही कठिन काम है, फिर भी विभिन्न विद्वानों ने इस विवादास्पद विषय पर अपने विचार व्यक्त किय ह । 1920 ई0 पू0 के दशक में सर्वप्रथम हड़प्पाई सभ्यता का ज्ञान हआ। हड़प्पाई सभ्यता का काल निर्धारण मुख्य रूप से मेसोपोटामिया में उर और किश स्थलों पर पाए गए हड़प्पाई मुद्राओं के आधार पर किया गया। इस क्षेत्र में सर्वप्रथम प्रयास जॉन मार्शल का रहा। उन्होंने 1931 ई० में इस सभ्यता का काल लगभग 3250 ई0 पू0 से 2750 ई0 पू0 निर्धारित किया। ह्वीलर ने इसका काल 2500-1500 ई0 पू0 माना है। बाद के समय में काल निर्धारण की रेडियो विधि का आविष्कार हुआ और इस विधि से इस सभ्यता का काल निरिण इस प्रकार है

1. पूर्व हड़प्पाई चरण : लगभग 3500-2600 ई0 पू0 

2. परिपक्व हड़प्पाई चरण : लगभग 2600-1900 ई0 पू0 

3. उत्तर हड़प्पाई चरण : लगभग 1900-1300 ई0 पू0

विभिन्न विदानो दारा सिंधु सभ्यता का निर्धारण

कालविद्वान
3500-2700 ई0 पू0माधोस्वरूप वत्स 
3250-2750 ई0 पू0जॉन मार्शल 
2900 ई0 पू0-1900 ई0 पू0डेल्स 
2800-2500 ई0 पू0अर्नेस्ट मैके 
2500-1500 ई0 पू0मार्टीमर ह्वीलर 
2350-1700 ई0 पू0सी0 जे0 गैड 
2300 ई0 पू0-1750 ई0 पू0डी0 पी0 अग्रवाल 
2000-1500 ई0 पू0फेयर सर्विस  

रेडियो कार्वन (C-14′ जैसी नवीन विश्लेषण पद्धति के द्वारा हड़प्पा सभ्यता का सर्वमान्य काल 2500 ई0 पू0 से 1750 ई0 पू0 को माना गया है। 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *